जानिए क्या हैं Computer In Hindi In 2020 [Latest]

Computer in hindi कंप्यूटर शब्द अंग्रेजी के “Compute” शब्द से बना है, जिसका अर्थ है “गणना”, करना होता है इसीलिए इसे गणक या संगणक या अभिकलक यंत्र भी कहा जाता है और इसका अविष्‍कार Calculation करने के लिये हुआ था सीधी भाषा मेंं कंप्‍यूटर Calculation करने वाली मशीन थी, जैसे आपका कैलकुलेटर कंप्‍यूटर को ठीक प्रकार से कार्य करने के लिये सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर दोनों की आवश्‍यकता होती है।

अगर सीधी भाषा में कहा जाये तो यह दोनों एक दूसरे के पूरक हैं।

 बिना हार्डवेयर सॉफ्टवेयर बेकार है और बिना सॉफ्टवेयर हार्डवेयर बेकार है। मतलब कंप्‍यूटर सॉफ्टवेयर से हार्डवेयर कमांड दी जाती है किसी हार्डवेयर को कैसे कार्य करना है उसकी जानकारी सॉफ्टवेयर के अन्दर पहले से ही डाली गयी होती है। कंप्यूटर के सीपीयू से कई प्रकार के हार्डवेयर जुडे रहते हैं, इन सब के बीच तालमेल बनाकर कंप्यूटर को ठीक प्रकार से चलाने का काम करता है सिस्टम सॉफ्टवेयर यानि ऑपरेटिंग सिस्टम।

computer in hindi

कंप्यूटर की पूरी जानकारी -Computer In Hindi

कंप्यूटर आज हमारे जीवन का एक अहम हिस्सा बन गया है आज हर जगह आपको कंप्यूटर देखने को मिलता है. कंप्यूटर का इतना ज्यादा इस्तेमाल होने के कई कारण है कंप्यूटर द्वारा आप कोई भी कार्य है बहुत ही जल्दी कर सकते हैं. इसीलिए आज कंप्यूटर का इस्तेमाल इतना ज्यादा हो गया है.

इसीलिए आज कंप्यूटर में शिक्षा क्षेत्र, बैंकिंग क्षेत्र, व्यापार में, हॉस्पिटल, इत्यादि में देखने को मिलता है. लेकिन हर किसी को नहीं पता होता कि आखिर कंप्यूटर क्या है Computer in hindi और कैसे काम करता है और इसके कौन कौन से हिस्से हैं जिनका इस्तेमाल काम करने के लिए किया जाता है.

इससे पहले हमने आपको एक पोस्ट में बताया था कि कंप्यूटर की कौन-कौन सी इनपुट और आउटपुट डिवाइस होती है जिसकी मदद से हम कंप्यूटर में कोई भी डाटा भेज सकते हैं या वापस ले सकते हैं तो अगर आप भी जानना चाहते हैं कि इसकी कौन-कौन सी इनपुट और आउटपुट डिवाइस है और वह कैसे काम करती है तो हमारी यह पोस्ट जरूर देखें.

कंप्यूटर को सिर्फ एक लाइन में बताया जाए तो यह एक ऑटोमेटिक इलेक्ट्रॉनिक मशीन है जो कि किसी भी कार्य को बहुत ही जल्दी और कम समय में कर सकती है. कंप्यूटर का इस्तेमाल शुरू में सिर्फ गणना करने के लिए बनाया गया था लेकिन इसमें जैसे-जैसे बदलाव किए गए इसमें अलग-अलग डिवाइस को जोड़ा गया तो इसका काम और भी बेहतर और और भी ज्यादा बड़ा बन गया.Computer in hindi कंप्यूटर को हिंदी में संगणक कहते हैं.

एक पूरे कंप्यूटर को चलाने के लिए दो चीजों की आवश्यकता होती है. Hardware और Software लेकिन बहुत से लोगों को नहीं पता कि आखिर इन दोनों में क्या अंतर है. इन दोनों में बहुत ज्यादा अंतर है यह दोनों एक दूसरे के Computer in hindi ऊपर निर्भर होते हैं अगर कंप्यूटर का हार्डवेयर खराब हो जाए तो सॉफ्टवेयर किसी काम का नहीं होता और अगर सॉफ्टवेयर खराब हो जाए तो हार्डवेयर किसी काम का नहीं होता.

कंप्यूटर की Input Output डिवाइस कौन सी है

इनपुट डिवाइस द्वारा डाटा एवं निर्देशों को Computer में एंटर किया जाता है. आमतौर पर इस्तेमाल होने वाली इनपुट डिवाइस Keyboard है. कुछ अन्य इनपुट डिवाइसिस भी विकसित की गई है. जिनमें टाइपिंग की आवश्यकता नहीं होती है. ये है: माउस, जोस्टिक, ट्रैकबॉल, लाइट पेन, ग्राफिक टैबलेट, टच स्क्रीन आदि है.

अगर आसान भाषा में कहीं तो कंप्यूटर सॉफ्टवेयर पर हम काम करते हैं जैसे कि  Google Chrome ,Audio Player , Video Player , Game इत्यादि सभी कंप्यूटर सॉफ्टवेयर होते हैं जिन्हें हम सिर्फ चला सकते हैं लेकिन छू नहीं सकते इसी प्रकार कंप्यूटर का ऑपरेटिंग सिस्टम विंडो भी एक प्रकार का सॉफ्टवेयर ही है.

इनपुट डिवाइस के नाम Computer Input Device In Hindi

  • माउस (Mouse) – माउस कंप्यूटर का इनपुट डिवाइस है जिसका कार्य डाटा को इनपुट करना होता है। इसको पॉइंटिंग डिवाइस भी कहते है।
  • कीबोर्ड (Keyboard) – कीबोर्ड एक इनपुट डिवाइस है जिसका कार्य डाटा या इन्फॉर्मेशन को इनपुट करना होता है। डाटा को कीबोर्ड की सहायता से ही टाइप किया जाता है। इस पर अल्फाबेट्स, नंबर जैसी keys होती है।
  • माइक्रोफोन (Microphone) – माइक्रोफोन का कार्य ऑडियो को इनपुट देना है। कंप्यूटर में ऑडियो को रिकॉर्ड करने के लिए माइक्रोफोन आवश्यक है।
  • टच स्क्रीन (Touch Screen) – आजकल कंप्यूटर की मॉनिटर टच स्क्रीन की तरह आती है। इसमें डाटा इनपुट “टच” करके होता है।
  • वेब कैम (Webcam) – वेब कैम का कार्य लाइव चलचित्र को कंप्यूटर में दिखाना है। वीडियो चैटिंग के लिए भी वेब कैम का उपयोग होता है।
  • जॉयस्टिक (Joystick) – यह एक पॉइंटिंग डिवाइस है। कंप्यूटर गेम्स खेलने में इसका उपयोग होता है।
  •  पॉवर केबल (Power Cable) – पॉवर केबल कंप्यूटर में दो होती है। एक केबल CPU को पॉवर देती है और दूसरी केबल मॉनिटर को पॉवर सप्लाई करती है।
  • VGA केबल (Video Graphics Array) – इस केबल का कार्य CPU से डाटा को मॉनिटर में Show करना होता है।

आउटपुट डिवाइस के नाम Output Devices Name In Hindi

  • मॉनिटर (Monitor) – मॉनिटर आउटपुट डिवाइस है जिसका कार्य डाटा या इन्फॉर्मेशन को डिस्प्ले करना होता है।
  •  प्रिंटर (Printer) – प्रिंटर का कार्य हार्ड कॉपी देना होता है। यह कंप्यूटर में मौजूद सॉफ्ट कॉपी को कागज पर प्रिंट देता है। यह एक आउटपुट डिवाइस है।
  • स्कैनर (Scanner) – इसका कार्य इमेज, डॉक्यूमेंट जैसी हार्ड कॉपी को स्कैन करके कंप्यूटर में लोड करना होता है।
  • स्पीकर (Speaker) – स्पीकर का कार्य ऑडियो को आउटपुट देना है। मूवीज, वीडियो, म्यूजिक की ध्वनि को स्पीकर की मदद से सुना जाता है।
  • प्रोजेक्टर (Projector) – प्रोजेक्टर का कार्य वीडियो, इमेज को पर्दे पर दिखाना है। यह कंप्यूटर में मौजूद डाटा को प्रोजेक्ट करके स्क्रीन पर दिखाता है।
  • प्लॉटर (Plotter) – प्लॉटर एक तरह का प्रिंटर ही है लेकिन यह ग्राफ़िक्स डिज़ाइन को पेपर पर आउटपुट देता है।

अन्य डिवाइस के नाम Computer Parts Name 

  • मॉडेम (Modem) – मॉडेम इनपुट और आउटपुट दोनों कार्य करता है। यह एनालोग सिग्नल को डिजिटल सिग्नल में कन्वर्ट करता है। डिजिटल को एनालॉग में कन्वर्ट करता है। ब्रॉडबैंड के द्वारा इंटरनेट चलाने में महत्वपूर्ण है।
  • कंप्यूटर कैबिनेट केस (Cabinet Case) – यह कंप्यूटर CPU का बाह्य आवरण है। इसमें मदरबोर्ड, हार्डडिस्क, SMPS इत्यादि होते है।
  • यूपीएस (UPS) – इस डिवाइस में बैटरी होती है। अचानक पॉवर ऑफ हो जाने पर भी यह कंप्यूटर को पॉवर देता है।

RAM /ROM क्या है इनकी जरूरत क्यों होती है

इनके  बारे में हमने पहले भी आपको बताया है जिसमें आप इनके बारे में पूरी जानकारी और इनमे क्या अंतर है के बारे में जान सकते हैं. यहां पर भी हम आपको इनके बारे में कुछ बेसिक जानकारी बता देते हैं.

RAM क्या होती है

Random Access Memory , यह किसी भी कंप्यूटर या डिवाइस के लिए सबसे जरूरी हिस्सा होता है। इसका इस्तेमाल Data Store करने के लिए किया जाता है लेकिन यह तभी तक Store रहता है जब तक पावर ऑन रखते हैं। जब पावर ऑफ हो जाती है तो इसमें स्टोर डाटा खत्म हो जाता है।

आप यहां सबसे अच्छे गेमिंग फोन के बारे में पढ़ सकते हैं!

ROM क्या होती है

ROM भी RAM की तरह बहुत ही जरूरी हिस्सा है। ROM कंप्यूटर सिस्टम का प्राइमरी स्टोरेज डिवाइस है। यह CHIP के आकार की होती है जो भी कंप्यूटर के मदरबोर्ड से जुड़ी हुई होती है।

जैसा कि नाम से ही पता लगता है यह कंप्यूटर के डाटा को सेट करने के लिए काम में ली जाती है इस में आप कुछ लिख नहीं सकते हैं या कोई डाटा स्टोर नहीं कर सकते हैं। कम्प्युटर के शुरू होने के बाद डाटा को Regenerate करती है। यह RAM मेमोरी की तरह अपना डाटा कंप्यूटर बंद होने के बाद नहीं खत्म करती है। है और इसमें पूरा Data इंफॉर्मेशन स्टोर रहता है।

कम्प्यूटर के लाभ और नुकसान

 

कम्प्यूटर के लाभ

  • आज हर जगह कंप्‍यूटर का उपयोग बडें पैमाने पर किया जा रहा है, इससे का सबसे बडा कारण यह है कि मनुष्‍य के मुकाबले बहुत तेजी सेे काम करता है, यह बहुत बडी गणना को कुछ सेकेण्‍ड में कर सकता हैै
  • आप कभी-भी और कहीं भी अपने दोस्‍तों के सम्‍पर्क में वीडियो कॉल, ईमेल, सोशल नेटवर्किंग जैसे सुविधाओं केे माध्‍यम सेे जुडें रह सकते हैं।
  • आप इंटरनेट पर कोई भी जानकारी प्राप्‍त कर सकते हैं। 
  • बैंकिग जैसी सुविधाओं में कंंप्‍यूटर तकनीक का जबाब नहीं है, आप घर बैठे-बैठे अपने मोबाइल फोन से या कंंप्‍यूटर से किसी को भी रूपये ट्रांसफर कर सकते हैं।
  • आज मोबाइल रीचार्ज, बिजली का बिल से जमा करने से लेकर ऑनलाइन शॉपिग यहॉ तक कि हवाई जहाज तक कंप्‍यूटर द्वारा उडाये जा रहेे हैं वह भी बिना कोई गलती किये।

कंप्यूटर के नुकसान

  • जहॉ एक और कंंप्‍यूूटर लोगों को स्‍मार्ट बना रहा है वहीं दूसरी और इसका जरूरत से ज्‍यादा प्रयोग बीमार भी बना रहा है।
  • कंप्‍यूटर और मोबाइल का अधिक प्रयोग स्वास्थ्य के लिए हानिकारक साबित हो रहा है।
  • बडी-बडी कंंपनियों और फैट्रियों में कई-कई मजदूरों का काम कंप्‍यूटर और रोबोट करने लगे हैं, जिससे बेरोजगारी भी बढी ह।
  • इसी प्रकार सोशन नेटवर्किंंग साइट पर भी सावधानी से काम न करने पर भी होता है।
  • इंटरनेट के माध्‍यम से ठगी बहुत बडे पैमाने पर बढ गयी है।

निष्कर्ष

कंप्यूटर एक इलेक्ट्रॉनिक उपकरण है जिसका उपयोग लगभग हर क्षेत्र में किया जाता है, भले ही यह सबसे अप्रत्याशित हो। इसीलिए इस युग को आईटी का युग कहा जाता है। और अब हम कंप्यूटर के बिना दुनिया की कल्पना नहीं कर सकते। यह दो चीजों से बना है एक हार्डवेयर है और दूसरा सॉफ्टवेयर है।

कंप्यूटर के सभी भौतिक घटक जैसे कीबोर्ड, माउस, मॉनिटर आदि हार्डवेयर के अंतर्गत आते हैं जबकि कंप्यूटर द्वारा उपयोग किए जाने वाले सभी प्रोग्राम और भाषाएं सॉफ्टवेयर कहलाती हैं। इन दिनों कंप्यूटर न केवल इंजीनियरों और वैज्ञानिकों के लिए उपकरण हैं, बल्कि उनका उपयोग दुनिया भर के लाखों लोगों द्वारा किया जा रहा है।

कंप्यूटर आजकल बहुत महत्वपूर्ण हो गया है क्योंकि यह बहुत सटीक, तेज है और कई कार्यों को आसानी से पूरा कर सकता है। अन्यथा उन कार्यों को मैन्युअल रूप से पूरा करने के लिए बहुत अधिक समय की आवश्यकता होती है। यह केवल एक सेकंड के एक अंश में बहुत बड़ी गणना कर सकता है। इसके अलावा, इसमें बड़ी मात्रा में डेटा संग्रहीत किया जा सकता है। हम अपने कंप्यूटर पर इंटरनेट का उपयोग करते हुए विभिन्न पहलुओं की जानकारी भी प्राप्त करते हैं।

का अधिक प्रयोग स्वास्थ्य के लिए हानिकारक साबित हो रहा है।

  • बडी-बडी कंंपनियों और फैट्रियों में कई-कई मजदूरों का काम कंप्‍यूटर और रोबोट करने लगे हैं, जिससे बेरोजगारी भी बढी है।
  • इसी प्रकार सोशन नेटवर्किंंग साइट पर भी सावधानी से काम न करने पर भी होता है।
  • इंटरनेट के माध्‍यम से ठगी बहुत बडे पैमाने पर बढ गयी है।

 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Popular Posts